Disabled Copy Paste

जहन्नम में अल्लाह का अज़ाब (Jahannam Me Allah Ka Azab)

जहन्नम में अल्लाह का अज़ाब (Jahannam Me Allah Ka Azab)

खुनी दरिया का अज़ाब
कुछ जहन्नम वालों को खून के दरिया में डाल दिया जायेगा। तो वह जहन्नमी तैरते हुए किनारे तक आएंगे। उस वक़्त एक फरिश्ता एक बड़ा पत्थर इस ज़ोर से उनके मुँह पर मारेगा की वह फिर बीच दरिया में पहुंच जायेंगे। बार बार उन्हें यही अज़ाब दिया जाता रहेगा। यह वह लोग होंगे जो सूद(ब्याज) की कमाई खाते थे।
बुख़ारी शरीफ I 185

गलफड़े चीरने का अज़ाब
कुछ लोगो को फ़रिश्ते जहन्नम में सुलाकर उनके मुँह में संडासी डालेंगे। और उसे फैलाएंगे तो सिर के पीछे तक उनका मुँह फट जायेगा। इसी तरह दूसरा गलफड़ा भी फाड़ेंगे इतनी देर में पहला वाला सही होकर अपनी जगह आ जायेगा तो फिर उसे फाड़ेंगे। इसी तरह यह अज़ाब चलता रहेगा। यह सज़ा झूट बोलने वालों को मिलेगी।   बुख़ारी शरीफ I 185

पत्थर मारने का अज़ाब 
कुछ जहन्नमियों को फ़रिश्ते सुलाकर उनके सिर पर ज़ोर ज़ोर से पत्थर मारेंगे। इतना ज़ोर से की उनका सिर चूर चूर हो जायेगा और पत्थर दूर जा गिरेगा। जब फरिश्ता पत्थर उठाने जायेगा और वापिस आने तक जहन्नमी का सिर ठीक हो चूका होगा। फिर उसी तरह पत्थर मारकर सिर कुचल देगा लगातार यही अज़ाब होता रहेगा।    बुख़ारी शरीफ I 185

मुँह नोचने का अज़ाब
मेराज की रात प्यारे रसूल पैगंबर हज़रत मुहम्मद सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम जन्नत जहन्नम की सेर करते हुए गुज़र रहे थे। आपने देखा की जहन्नम में कुछ लोग ताम्बे के नाखूनों से अपना सीना और चेहरा नोच रहे है। आपने हज़रत जिब्राइल से जब उनके बारे में पूछा तो उन्होंने बताया की यह लोगो की ग़ीबत करने वाले उनकी इज़्ज़त से खेलने वाले वाले लोग हैं। जिसकी सजा इन्हे मिल रही हैं।     मिश्कात II 429

सांप बिच्छू का अज़ाब 
हदीस शरीफ में हैं जहन्नम में ऊँटो के बराबर बड़े बड़े सांप हैं। वह इतने ज़हरीले होंगे की एक बार काटेंगे तो 40 साल तक ज़हर के दर्द का असर खत्म नहीं होगा। इसके अलावा वहाँ खच्चर जितने बड़े बिच्छू होंगे जो डांक मारते रहेंगे। उनके एक बार डंक मारने की तकलीफ भी 40 बरस तक रहेगी।
कुछ जहन्नमियों के गले में सांपो की माला पहना दी जाएगी यह ज़हरीले सांप उन्हें बराबर काटते रहेंगे।     मिश्कात II 429

हलक में फंसने वाले खानो का अज़ाब 
कुछ जहन्नमियों को हलक में फंसने वाला खाना खिलाया जायेगा। उससे उनका दम घुटने लगेगा तो वह पानी मांगेंगे। उस वक़्त उनके सामने इतना गर्म पानी पेश किया जायेगा की मुँह के करीब बर्तन के पहुचंते ही उसकी गर्मी से चेहरे की पूरी खाल पिघलकर कर उस बर्तन में गिर पड़ेगी।              मिश्कात II 504

क़ुरान मजीद में हैं की दोज़ख वालों को थूहड़ खिलाया जायेगा। वह इतना बदबूदार होगा की अगर एक कतरा दुनिया में गिर जाये तो खाने पीने की सारी चीज़े कड़वी व बदबूदार हो जाये।

गर्म पानी और पीप का अज़ाब 
जहन्नम वालों को गर्म पानी जो जैतून के तेल की तलहट की तरह गन्दा होगा। वह उन्हें पीना पड़ेगा जो मुँह के करीब लाते ही चेहरे की पूरी खाल को पिघला कर गिरा देगा। यही गर्म पानी उनके सिर पर डाला जायेगा। तो वह बदन में पहुंच कर अंदर के सारे हिस्सों को काट काट कर निचे गिरा देगा। इसी तरह कुछ जहन्नमियों को बदन का पीप पिलाया जायेगा। वह इतना बदबूदार होगा की अगर उसकी एक बूँद दुनिया में गिर जाये तो सारी दुनिया बदबू से मर जाये।      मिश्कात II 503

खुलासा यह है की जहन्नम में तरह तरह के अज़ाबो के साथ सज़ाये दी जाएगी। जिस तरह जन्नत की नेमतों को न किसी आँख ने देखा और न किसी कान ने सुना और न ही किसी के दिल में उसके बारे में ख्याल गुज़रा हैं। उसी तरह जहन्नम के अज़ाबो को भी न किसी ने कभी आंख से देखा और न ही किसी कान ने सुना और न ही किसी के दिल में इसका ख्याल आया। यह सब चीज़े मौत के बाद ही देखने को मिलती हैं। दुनिया में मज़े से रह रहे लोगो को इसका बिलकुल भी अंदाज़ा नहीं हैं की मौत के बाद क्या होगा। वह बस अपनी छोटी से ज़िन्दगी मक्कारी, बुराई, ग़ीबत, नाफ़रमानीं में जीने में लगे हैं।

आजकल के लोग पैसा कमाने के चक्कर में किस तरह की गलत काम कर रहे हैं। अपने मज़े के लिए किस हद तक जा रहे हैं। इसका अज़ाब उनको इस ज़िन्दगी के बाद ज़रूर मिलेगा। अल्लाह हमें ऐसे कामो से दूर रखे जो काम सीधे जहन्नम की और ले जाते हैं। मेहरबानी करके अल्लाह के बताये रास्ते पर चलिए।  जिससे हमें जहन्नम के अज़ाब से छुटकारा मिल सके और जन्नत की खूबसूरत आबो हवा में साँस लेने का मौका मिले आमीन।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

सदक़ा करने के फायदे (Benefits Of Sadqa)

किताबों में आया हैं की एक बार हज़रत बीबी फ़ातिमा बीमार हो गयी I हज़रत अली शेरे खुदा आपके पास आये तो आपने उनसे पूछा- आपको किसी चीज़ के खाने...

Popular Posts