Disabled Copy Paste

इस्लामी सूरह और उन्हें पढ़ने के फायदे (Islami Surah or unhe Padhne ke Faide)

इस्लामी सूरह और उन्हें पढ़ने के फायदे (Islami Surah or unhe Padhne ke Faide)

 

आज के इस ब्लॉग आर्टिकल में हम आपको कुछ खास इस्लामी सूरह के बारे बताएँगे जिन्हें पढ़ कर आप अपनी ज़िन्दगी सुधार सकते हैं और काफी मुसीबतों से बच सकते हैं।  


सूरह आले इमरान 

जो आदमी क़र्ज़ से मुब्तला हो या कहे बहुत कर्ज़दार हो गया हो अगर वह रोज़ाना सात मर्तबा यह सूरह पढ़ेगा तो इंशाल्लाह वह उस क़र्ज़ से आज़ाद हो जायेगा और अल्लाह तआला क़र्ज़ से आज़ाद करने के बाद उसकी रोज़ी का इंतेज़ाम भी कर देगा। अगर आप क़र्ज़ से परेशान हैं तो इस सूरह को कसरत से पढ़े इंशाल्लाह आपकी यह मुसीबत दूर हो जाएगी। 

सूरह निसा 

अगर मिया बीवी में मनमुटाव हो गया है ये रिश्ते में दरार आ चुकी हैं तो इस सूरह को पानी पर दम करके अगर मिया बीवी को पिलाया जाये तो तो दोनों में फिर से मोहब्बत पैदा हो जाएगी और बिगड़ते रिश्ते सुधरने लग जायेंगे और आपसी मनमुटाव दूर हो जायेगा और इंशाल्लाह घर का माहौल फिर से खुशगवार हो जायेगा। 

सूरह आराफ़

इस सूरह को रोज़ कम से कम तीन मर्तबा पढ़ने वाला शख्स बालाओं और मुसीबतों से महफूज़ रहेगा। बड़ी से बड़ी आफत और मुसीबत उससे दूर रहेगी और बंदा शैतानी वस्वसे से भी दूर रहेगा। 

सूरह युसूफ 

अगर किसी को क़ुरान की कोई सूरह याद नहीं हो रही या कोई शख्स क़ुरान हाफिज बनना चाहता हैं तो उसे चाहिए की सबसे पहले सूरह युसूफ याद करे। इसकी बरकत से आपको पूरा क़ुरान मजीद याद हो जायेगा और हमेशा याद रहेगा। अगर किसी शख्स को बिना वजह से नौकरी से निकाल दिया गया हैं या गलत तरीके से उसे नौकरी छोड़ने के लिए मजबूर किया जा रहा हैं तो ऐसे शख्स को चाहिए की वह सूरह युसूफ रोज़ाना नमाज़ के बाद 13 मर्तबा पढ़े इंशाल्लाह उसकी नौकरी वापिस बहाल हो जाएगी और आगे भी नौकरी में कभी दिक्कत नहीं आएगी।

कोई गरीब आदमी या जिस के पास माल और दौलत खत्म हो रहा हैं और खाना पीना भी मुश्किल हो रहा हैं वह भी इस सूरह को पाबन्दी से रोज़ाना पढ़ कर अल्लाह से दुआ मांगे इंशाल्लाह उसकी गरीबी ख़त्म हो जाएगी। 

सूरह इब्राहिम 

अगर किसी शख्स पर जादू करके उसे नामर्द बना दिया गया हो या किसी की मर्दाना ताकत किसी वजह से ख़त्म हो गयी हो तो उसे चाहिए की वह रोज़ाना तीन बार यह सूरह पढ़े इंशाल्लाह जादू का असर खत्म हो जायेगा और उसकी मर्दाना ताकत वापिस बहाल हो जाएगी। 

सूरह बनी इसराइल 

घर में कोई बच्चा कमज़ोर दिमाग वाला हो या उसे बोलने में दिक्कत आती हो या बोल ही नहीं पाता हो और चीज़ो को समझ ही नहीं पाता हो तो मुश्क व ज़ाफ़रान से इस सूरह को लिख कर पानी में घोल कर पिए इंशाल्लाह बच्चा साफ़ बोलने लगेगा और उसका दिमाग एक नोर्मल बच्चे जैसा हो जायेगा। 

सूरह ताहा

अगर किसी लड़की का निकाह न हो रहा हो या निकाह में रुकावट आ रही हो ये यह सूरह दिन में 21 मर्तबा रोज़ पढ़े इंशाल्लाह जल्द ही अच्छे रिश्ते की खबर आएगी और नेक मर्द से उसकी शादी भी हो जाएगी और रिश्ते में भी आगे कोई रुकावट या नफरत पैदा नहीं होगी। 

सूरह मरियम और सूरह कौसर 

अगर किसी औरत के बच्चा ठहरने में दिक्कत आ रही हैं या किसी वजह या रुकावट से बच्चा न हो रहा हो तो ऐसी औरत को चाहिए की सूरह मरियम रोज़ाना एक मर्तबा वज़ू करके रोज़ पाबन्दी से पढ़े इसके साथ आप सूरह कौसर भी पढ़े इंशाल्लाह आपको जल्द ही खुशखबरी मिलेगी और बच्चा होने के वक़्त भी ज़्यादा तक़लीफ़ नहीं होगी। 

सूरह यासीन 

सूरह यासीन की फ़ज़ीलत के बारे में हमने एक पहले भी आर्टिकल लिखा हैं जिसे आप पढ़ सकते हैं हम वापिस इस सूरह को पढ़ने के फायदे के बारे में आपको बातएंगे। सूरह यासीन को क़ुरान का दिल कहा जाता है। इसे क़ुरान में सबसे बेहतरीन और बरकत वाली सूरह में शुमार किया जाता हैं। इसे पढ़ने के काफी सारे फायदे हैं जो इस तरह है,

  • अगर आप किसी मुसीबत में फंस चुके हो और कोई रास्ता नज़र नहीं आ रहा हो तो सूरह यासीन पढ़े इंशाल्लाह आपकी मुसीबत आसानी से दूर हो जाएगी। 
  • अगर किसी औरत के बच्चा होने के आखरी महीने में अगर आप चाहते हो की उसे कोई परेशानी न हो या कहे बच्चे की डिलीवरी आसानी से बिना किसी खतरे के हो जाये तो आपको चाहिए की यासीन शरीफ पानी पर दम करके वह पानी उस औरत को पिला दे इंशाल्लाह बच्चे की डिलीवरी आसानी से हो जाएगी। 
  • अगर आपका कोई दुश्मन हैं जो आपको मारना चाहता हैं या आपको परेशान करना चाहता हैं तो आप जुमे के दिन फज्र की नमाज़ के बाद एक मर्तबा यासीन शरीफ पढ़े और ऐसे लोगो से बचने की दुआ मांगे इंशाल्लाह वह दुश्मन आप के आस पास भी नहीं भटकेगा। 
  • सूरह यासीन को पढ़ने से बीमारी में भी शिफा हासिल होती है और इसको पाबन्दी से पढ़ने वाला शख्स कभी किसी गंभीर बीमारी का शिकार नहीं होता। 

सूरह बक़रह 

यह क़ुरान पाक की सबसे बड़ी सूरह हैं इसे पढ़ने का सवाब तो ही साथ ही साथ यह सूरह आपको काफी मुसीबतों और परेशानियों से भी बचाती हैं। जो शख्स इस सूरह को दिन में एक बार अगर दिन में न हो सके तो हफ्ते में एक बार इस सूरह को दिल से पढ़ता हैं तो उस शख्स की उम्र में बरकत होती हैं। अगर आपके घर पर या आस पास ज़हरीले जानवर जैसे सांप या कुछ और जिससे जान को खतरा हैं तो आपको चाहिए की सूरह बक़रह पढ़ कर पानी में दम करके उसमे थोड़ा और पानी मिलकर किसी बोतल में भर ले और वह पानी घर के चारो और जहाँ से जानवर घर में घुसता हैं वहां वह पानी थोड़ा थोड़ा डाले इंशाल्लाह घर में कभी कोई ज़हरीला जानवर नहीं घुसेगा। 

सूरह बक़रह आपको जादू टोन से भी बचाता है आप अगर कही जा रहे है और आपको लगता है यह जगह सही नहीं हैं मतलब उस जगह शैतान हवा में घूमते हैं तो आपको चाहिए की सूरह बक़रह पढ़ कर जाये तो आप शैतानी वसवसे से दूर रहेंगे और कोई जादू टोना आप पर असर नहीं करेगा। इसके अलावा भी इस सूरह के काफी फायदे हैं जो इंशाल्लाह हम आपको अगले आर्टिकल में बताने की कोशिश करेंगे।

अल्लाह हाफिज  

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

इस्लामी सूरह और उन्हें पढ़ने के फायदे (Islami Surah or unhe Padhne ke Faide)

  आज के इस ब्लॉग आर्टिकल में हम आपको कुछ खास इस्लामी सूरह के बारे बताएँगे जिन्हें पढ़ कर आप अपनी ज़िन्दगी सुधार सकते हैं और काफी मुसीबतों से ब...

Popular Posts